बेगूसराय : पहसारा में दोहरी हत्या कांड से सनसनी ,ग्रामीणों में खौफ का माहौल ..

PAhasara

न्यूज डेस्क : क्षेत्र में दिन प्रतिदिन अपराधिक वारदात में इजाफा हो रहा है।अपराधियों का मनोबल इस तरह बढ़ गया है कि बेखौफ होकर एक के बाद एक अपराधिक घटना की वारदात को अंजाम देने से नहीं चूक रहे हैं।ताजा मामला नावकोठी थाना क्षेत्र अन्तर्गत पहसारा की है जहाँ अपराधियों ने गुरुवार की देर शाम को राजेन्द्र प्रसाद सिंह का 40 वर्षीय पुत्र गुड्डू कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी।मृतक माँ काली इन्टरप्राईजेज नामक सिमेंट और बालू गिट्टी की दुकान चलाता था।

मृतक गुड्डू सिंह अपने दुकान के बाहर टहल रहा था उसी समय बदमाशों ने उसपर ब्रह्मदेव सिंह पुस्तकालय के निकट अंधाधुंध गोलियां चलाई।मृतक को चार गोली लगी है।बदमाश गोली मारकर अंधेरे का फायदा उठाते हुए भागने में सफल रहा।गोली लगने के बाद गुड्डू सिंह को इलाज के लिए ले जाने के क्रम में रास्ते में ही मौत हो गयी।ग्रामीणों के द्वारा शब की गाड़ी को सड़क पर रखकर मंझौल बखरी पथ को जाम कर दिया।सड़क जाम करते समय ग्रामीणों ने बदमाशों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे और वरीय पदाधिकारी के आने तक जाम नहीं हटाने पर अडिग थे।इसी बीच कुछ बदमाशों ने आको सिंह के ड्राइवर बबलू महतों के घर में घुस कर मारपीट करते हुए उस पर बम मार कर हत्या कर दी।इस हत्या के बाद माहौल और बिगड़ गया और ग्रामीणों के द्वारा हनुमान चौक के निकट सड़क को भी जाम कर दिया।

गुड्डू सिंह के समर्थकों के द्वारा ब्रह्मदेव सिंह पुस्तकालय के निकट तो बबलू महतों के समर्थकों के द्वारा बभनगामा जानेवाली सड़क जहाँ हनुमान मंदिर हैं वहां जाम कर दिया गया।आश्चर्य की बात यह है कि गुड्डू सिंह के हत्यास्थल प्रशासन के मौजूद रहते हुए दूसरी घटना को अंजाम देकर बदमाश भागने में सफल रहा। एसडीओ अशोक कुमार गुप्ता,एसडीपीओ ओमप्रकाश और नावकोठी थाना प्रभारी राजीव कुमार रंजन के समझाने पर दोनों जगह जाम हटाया गया। गुड्डू सिंह पिता राजेन्द्र सिंह तीन भाई में सबसे छोटा था और उसके दो छोटे-छोटे बच्चे हैं।वहीं मृतक बबलू महतों पिता रामबदन महतों उर्फ बनया महतों दो भाइयों में बड़ा था और गाड़ी चलाकर परिवार का भरणपोषन करता था।मृतक बबलू महतों के चार बच्चे हैं। दोनों मृतक परिवार के घर पर मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है।

जैसे ही दोनों के शव पोस्टमार्टम होकर गॉव पहुंचा परिजनों की चित्कार से माहौल गमगीन हो गया।हादसा स्थल पर थाना प्रभारी राजीव कुमार रंजन,एएस आई अनिल मिश्र,चुनचुन कुमार, मंझौल ओपी अध्यक्ष अजीत कुमार सहित बखरी,परिहारा ओपी,गढ़पुरा सहित जिला पुलिस बल के जवान से सम्पूर्ण घटना स्थल छावनी में तब्दील हो गया।पुलिस बल की उपस्थिति में दोनों शब का दाह संस्कार स्थानीय नदी बूढ़ी गंडक के किनारे कर दिया गया।स्थिति तनावपूर्ण है लेकिन प्रशासन के नियंत्रण में है।घटना के बाद पहसारा मुखिया जी चौक की सभी दुकानें बन्द थी।दोहरी हत्या की वारदात से ग्रामीण दहशत में हैं और किसी समय किसी भी अप्रिय घटना की आशंका से भयभीत हैं।

You may have missed

You cannot copy content of this page