बेगूसराय : फार्मेसी की पढ़ाई के लिये स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत में जीएम कॉलेज ऑफ फार्मेसी दे रहा सुनहरा अवसर

GM COLLEGE OF PHARMACY BEGUSARAI

न्यूज डेस्क : फार्मेसी से जुड़े कानूनों में हुए बदलाव ने इस क्षेत्र में कैरियर की तलाश करने वालों को काफी उलझन में डाल दिया था। अब धीरे-धीरे हर किसी को समझ मे आने लगा है कि यदि कोई भी दवा दुकान खोलना है या सरकारी मेडिकल लाइन में जॉब हासिल करना है तो उसके लिए फार्मेसी का कोर्स करना अनिवार्य है। बताते चलें कि कोरोनाकाल में जहां एक तरफ हर सेक्टर में गिरावट है वहीं दूसरी तरफ फार्मेसी सेक्टर राइजिंग ट्रेंड में है।

इधर बिहार और खासकर बेगूसराय व उसके आसपास के क्षेत्रों में फार्मेसी से जुड़े बेहतर इंस्टीट्यूट की भारी किल्लत है। इस क्षेत्र में जाने वाले इच्छुक युवा,युवतियों को जीएम कॉलेज ऑफ फार्मेसी ने कैरियर बनाने के सारे रास्ते खोल दिये हैं । शहर से महज कुछ किलोमीटर की दूरी पर अवस्थित जीएम कॉलेज ऑफ फार्मेसी मुख्य रूप से वीरपुर के समीप है। जीएम कॉलेज ऑफ फार्मेसी पिपरा दोदराज , नॉनपुर में स्थित है। फिलहाल इसमें फार्मेसी का बैचलर और डिप्लोमा कोर्सेज कराने की व्यवस्था की गई है।

इसकी जानकारी देते हुए कॉलेज के चेयरमैन यूपी सिंह बताते हैं फार्मेसी की पढ़ाई कर छात्र आत्मनिर्भर बन सकेंगे , खुद दवाई का उत्पादन कर उसे खुद का ब्रांड भी बना सकेंगे । उन्होंने यह भी कहा कि अब तक एक फार्मेसी डिग्री के लाइसेंस पर कई कई मेडिकल दुकाने चलाई जाती थीं। अब सरकार ने एक लाइसेंस पर सिर्फ एक दुकान खोलने का नियम बना दिया है। इससे एक साथ हज़ारों दवा दुकानदारों के समक्ष बड़ी परेशानी उत्पन्न हो गई थी। इसके अलावा हज़ारों शिक्षित युवा मेडिकल के क्षेत्र में ही अपना भविष्य बनाना चाहते थे, जिसके लिए उन्होंने बाहर जाकर महंगे कोर्सेज करने पड़ते थे। इन्ही सारी बातों को ध्यान में रखते हुए ज़रूरतमंदों को एक बेहतर विकल्प देने के लिए इस इंस्टीट्यूट की स्थापना की है।

वे कहते हैं पढ़ने पढ़ाने में कैम्पस की और कोर्स से जुड़ी सामग्रियों के उपलब्धता की सबसे बड़ी भूमिका होती है, इसलिए उन्होंने ने इस इंस्टीट्यूट का डिजाइन ही ऐसा करवाया है जो फार्मेसी इंस्टिट्यूट के लिए होते हैं। पठन पाठन के लिए सिर्फ बिहार ही नहीं बल्कि पूरे देश से चुनिंदा प्राध्यापकों को इंस्टीट्यूट में लाया गया है। इसके साथ इस इंस्टीट्यूट को मुख्यमंत्री स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड योजना से भी जोड़ दिया गया है। यहां पर पढ़ने वाले विद्यार्थियों को प्रैक्टिकल के लिए भी कहीं और जाने की ज़रूरत नहीं होगी, उसके लिए सारी व्यवस्था की गई हैं। कॉलेज में एडमिशन आरंभ है।

You cannot copy content of this page