बेगूसराय : सरकारी योजना से महरूम विधवा रिंकू देवी के परिवार को नागरिक कल्याण संस्थान ने बढ़ाया मदद को हाथ

डेस्क : बेगूसराय जिले से एक हृदयविदारक खबर है। जहां तीन नाबालिग बच्चों के साथ मां रोटी के लिए मोहताज है. बरौनी प्रखंड के अमरपुर गांव वार्ड नंबर 5 निवासी विधवा रिंकू देवी अपने तीन नाबालिग बच्चों के साथ रोटी के लिए मोहताज है । 2015 में बीमारी से रिंकू देवी के पति डब्लू कुमार राय की मृत्यु हो गई थी। उसके बाद रिंकू देवी भी ग्रसित बीमारी के चपेट में आ गई बेसहारा 35 वर्षीय रिंकू देवी आज पुत्री 11 वर्षीय पुत्री अंजली कुमारी , 12 वर्षीय पुत्र गोलू कुमार और 8 वर्षीय पुत्र अंकित कुमार के साथ रोटी के लिए मोहताज है।

सरकार की किसी योजनाओं का लाभ अभी तक समुचित रूप से नहीं मिल पाया है। फुस के घर में अपने बच्चों के साथ जीवन बिता रही है। मिली जानकारी के अनुसार 2018 में तत्कालीन जिलाधिकारी को आवेदन देकर प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए गुहार लगाई थी । जिलाधिकारी के आश्वासन के बाद प्रखंड विकास पदाधिकारी बरौनी के पास आवेदन को प्रेषित किया गया था । लेकिन आज तक इन्हें किसी तरह का योजना का समुचित लाभ नहीं मिल पा रहा है। विधिक सेवा प्राधिकार बेगूसराय में भी पीड़ीता ने आवेदन देकर इंसाफ की गुहार लगाई और अभी तक यह साफ के लिए भटक रही है ।

मंगलवार को नागरिक कल्याण संस्थान की टीम संस्थान के सचिव प्रो संजय गौतम के नेतृत्व में पीड़िता के घर अमरपुर में मिलने गई जहां बच्चों को बाल संरक्षण इकाई से परवरिश योजना के तहत तीनों नाबालिक बच्चों को 1 हजार प्रत्येक महीना 18 वर्ष की उम्र तक दिलवाने के लिए आवेदन पत्र भरवाया साथ ही बच्चों की अच्छी शिक्षा मिले इसके लिए भी संस्थान ने विचार किया । बच्चों को आर्थिक मदद सामाजिक तौर पर भी किया जाए जल्द ही जिलाधिकारी से निवेदन कर पुनः प्रधानमंत्री आवास योजना से आवास दिलवाने का कोशिश किया जाएगा ।

संस्थान की टीम में छात्र संघ महासचिव बादल कुमार विश्वविद्यालय प्रतिनिधि अभिषेक कुमार सभी ने कहा कि ऐसे बच्चों का संरक्षण और सुरक्षा करना हम सभी का सामाजिक दायित्व बनता है बच्चों के अच्छी शिक्षा और सुरक्षा सुनिश्चित हो इसके लिए समुचित सरकार की योजनाओं से जोड़ना संस्थान संकल्पित है ऐसे जिले के कोई भी बच्चे जिनके माता-पिता नहीं है या ग्रसित बीमारी से विदित हैं उसके घर जाकर ला पहुंच जाना और समाज की मुख्यधारा में लाना संस्थान का मुख्य उद्देश्य है।