बेगूसराय : बहन की डोली उठने से पहले उठी भाई की अर्थी, परिवार में मचा कोहराम

Doli

न्यूज डेस्क : बेगूसराय के छौड़ाही प्रखण्ड से एक हृदयविदारक घटना सामने आयी है। अभी घर में शादी की चहल पहल चल रही थी। टेन्ट पंडाल लगाये जा रहे थे। महिलाएं विवाह गीत गाने में मशगुल थी,और दुल्हन के हाथों में मेंहदी लगायी जा रही थी। चहुँओर खुशनुमा माहौल और मंगल गीतो से घर गाँव गुंजयमान हो रहा था। इसी बीच दुल्हन के छोटे भाई के सीने कुछ तकलीफ महसुस हुयी। जबतक वह कुछ बोल पाता जमीन पर गिरा और बेहेश होने के बाद होश में आ नहीं सका, और छोटा भाई 20 वर्षीय मुकेश कुमार बहन की डोली और धुमधाम से होनेवाले शादी का गवाह तो नहीं बन सका, अलबत्ता जब तक लोग कुछ समझ पाते दुल्हन के छोटे बहन की डोली उठते देखने से पहले ही दुनियाँ को अलविदा कह दिया।

छौड़ाही प्रखण्ड के एकम्बा गांव में दुल्हन नेहा कुमारी के साथ-साथ पिता राजेन्द्र साह माता नाते रिशतेदार ग्रामीण जिसने भी यह सुना और देखा सबकी आँखें डबडबा गयी। रविवार को आनेवाली बारात और शादी तत्काल स्थगित कर दिया गया। घर की खुशियाँ पल भर में ही मातम में बदल गया। पुरा गाँव स्तब्ध निःशब्द कोई भी कुछ समझ नहीं पा रहे थे। दरअसल एकम्बा पंचायत के शेखा टोला निवासी राजेन्द्र साह की पुत्री नेहा कुमारी का विवाह बेगूसराय जिले के साँख निवासी हरेराम साह के पुत्र प्रवीण कुमार के साथ रविवार 09 मई 2021 को होना था, लेकिन शनिवार की संध्या ही छोटे भाई मुकेश कुमार की आचानक मौत के बाद दुल्हन की डोली उठने के पहले भाई की अर्थी उठ गयी। इधर घटना के बाद लोगों में मातम छाया हुआ था।

बारात आने और उनके स्वागत के तमाम इंतजामात धरी की धरी रह गयी। तत्काल स्थानीय गाँव के प्रबुद्ध एवं गणमान्य लोगों की बैठक हुयी। बैठक में सभी लोगों ने रिति रिवाज के अनुसार मृतक के क्रियाक्रम के बाद शादी होने का फैसला लिया। फिलवक्त घरवाले का रो-रो कर बुरा हाल था,तो दुल्हन नेहा के आँसु थमने के नाम नहीं ले रहे थे। ग्रामीण बैठक में तत्काल शादी टालने का निर्णय लेने में पंचायत के पूर्व मुखिया योगेंद्र साह,अमरेन्द्र कुमार साह,सत्यदेव साह,राम खेलावन साह,ललन कुमार,हरिशंकर यादव,उपेन्द्र यादव एवं अशोक पंडित उर्फ लैला बिहारी समेत दर्जनों ग्रामीणों ने कुल पुरोहित से समझ बुझ कर तत्काल शादी टाल दिया,और आगे फिर इस पर विचार करने का निर्णय लिया गया।

You cannot copy content of this page