फेसबुक से दोस्ती में चढ़ी इश्क की बुखार हुआ प्रेमविवाह और महज तीन महीने में ढह गया बेइंतहा प्यार का महल

Facebook Love Story

न्यूज डेस्क : डिजिटल इंडिया के दौर में फेसबुक पर पहले दोस्ती हुयी,और धीरे धीरे व्हाट्सएप के जरिये एक दुसरे का मोबाईल नंबर आदान प्रदान कर प्यार की कहानी करनेवाले प्रेमी युगल का इश्क की जब दीवानगी छायी तो बात एक दुजे के लिये हमेशा हो जाने के साथ सात जन्मों तक साथ साथ जीने मरने की कसमें खाने के वादा करते हुये दोनों ने अंतरजातीय प्रेम विवाह कर लिया। इस अजब प्रेम की गजब कहानी में महज विवाह के तीन महीने के अंदर ही पति दहेज माँगकर प्रेमविवाह को कलंकित कर रहा है, तो ससुराल में ससुर सास नवविवाहिता को खाना पीना से वंचित कर तरह तरह की मानसिक यातनाएं देनी शुरू कर दी। मामला छौड़ाही प्रखंड के नारायणपीपड़ पंचायत अंतर्गत बड़ी जाना गाँव का है।

कम दिनों में ही गहरा गया था प्यार , खमियाजा भुगत रही आशिका जहाँ के रामनरेश यादव का मंझला पुत्र 20 वर्षीय राम मनोज यादव को तकरीबन दस माह पहले मधुबनी जिले के मधेपुर थाना क्षेत्र के मधेपुर गाँव की रहनेवाली अजय कुमार सिंह की 19 वर्षीय पुत्री रूबी कुमारी को फेसबुक के जरिये दोस्ती हो गयी।उसके बाद तेजी से दोस्ती प्यार में बदल गया,और महज कम दिनों में ही दोनों का प्यार परवान चढ़ा।प्यार में दीवानी रूबी ने फोन पर प्रेमी राम मनोज को एक दिन मिलने के लिये बुलाया,और इश्क में पागल राम मनोज दरभंगा रूबी से मिलने पहुँच गया।

प्रेमिका से पत्नी बनी रूबी ने बताया कि इस बीच जब परिजनों को इसकी खबर मिली तो प्यार में पागल बना मनोज और रूबी ने विवाह करने का फैसला कर लिया,और रोसड़ा थाना क्षेत्र के बुढ़ी गंडक से सटे त्रिमुहानी मंदिर में परिजनों की उपस्थिति में दोनों ने 17 जनवरी 2021 को विवाह कर लिया।विवाह में वर पक्ष की ओर से चाचा और अन्य लोग शामिल हुये,और वधु की ओर से भी उनके परिजन शामिल हुये।विवाह संपन्न हुआ और वह ससुराल बड़ी जाना आयी।उसके बाद फिर मैयके चली गयी,और यही से पति और ससुराल वाले का नियत बदलने लगा।दस दिन पहले ससुराल आयी रूबी प्रतिदिन की तरह शनिवार को सोयी तो सुबह उठने में बिलंब हुआ,और ससुराल वाले बहुत प्रयास किया,लेकिन घर के अंदर से लगी कुंडी को रूबी ने लगा लिया था।गाँव में बात फैलते ही लोगों का हुजुम रविवार की सुबह वहाँ उमड़ पड़ी और बाद में ग्रामीण ने पुलिस को सुचना दिया तब छौड़ाही पुलिस वहाँ पहुँचकर घर की कुंडी खुलवाकर रूबी से पुछताछ की.

पति माँग रहे दहेज और ससुराल वाले करते हैं प्रताड़ित दस दिन पहले ससुराल आयी रूबी शनिवार की रात प्रतिदिन की तरह कुंडी लगाकर सो गयी।जब सुबह देर तक नहीं उठी तो परिजनों के होश उड़ गये।देखते ही देखते ग्रामीणों की भीड़ उस घर पर उमड़ पड़ी।कुछ ग्रामीणों ने खिड़की तोड़ा तो देखा कि वह बेड पर मरणासन्न पड़ी हुयी है।बाद में सुचना पर पहुँचे छौड़ाही थानाध्यक्ष राघवेन्द्र कुमार सशस्त्र पुलिस बल के साथ पहुँचकर घर के कमरे की कुंडी खोलवाया,फिर नवविवाहिता रूबी से पुछताछ की।इस दौरान रूबी ने बताया कि ससुराल वाले अब प्रताड़ित करते हैं,और पति दहेज माँगते हैं।

कुछ दिन पहले सिर में चोट लग गयी थी।जिससे सिर में परेशानी है,और ससुराल में जबरन काम करने और दुसरे जाति का होने की बात कहकर सभी प्रताड़ित करते हैं।पति और ससुराल वाले लगा रहे नवविवाहिता का बदचलन होने का आरोप।प्रेमिका पत्नी रूबी का आरोप था कि अब पति और ससुराल वाले हमारे चरित्र पर सवाल खड़ा करते है,और बदचलन होने का आरोप लगा रहें हैं।नवविवाहिता ने बताया कि पति राम मनोज यादव ही अपने दोस्तों से फोन पर बात करने का दबाब बनाते रहते हैं,और मुझ पर ही उल्टा आरोप लगा रहें हैं। रूबी ने बताया कि पति और ससुराल वाले यह चाहते हैं कि यादव जाति से होने की वजह से कुर्मी को घर में क्यों रखें,और इसलिए आरोप लगाकर हमें भगाने की साजिश कर रहें हैं।रूबी ने बताया कि अगर हम किसी से बात करते हैं तो मोबाईल का कॉल डिटेल निकाला जाय। सबकुछ साफ हो जायेगा।सुचना पर पहुँची छौड़ाही पुलिस ने परिवार वाले को दी कड़ी चेतावनी,नवविवाहिता के पिता के पहुँचने का हो रहा इंतजार।

ग्रामीणों और ससुराल पक्ष वालों की इस सुचना पर कि घर के अंदर रूबी कुंडी लगाकर बदहवास पड़ी हुयी है,तो थानाध्यक्ष तुरंत बिना बिलंब किये हुये वहाँ पहुँचे और ग्रामीणों के सहयोग से घर के कमरे की कुंडी खुलवाकर प्रवेश किया तो नवविवाहिता पुरी तरह से सुरक्षित पायी गयी,और उससे पुछताछ की गयी।इस दौरान पता चला कि पति नवविवाहिता को घर में लाकर रख दिया,और खुद गायब रहता है।परिवार वाले भी नहीं चाहते कि उसका बेटा राम मनोज और बहु एकसाथ रहे।

इसका अंदाजा सहज ही लगाया सकता है कि नवविवाहिता को ससुरालवाले बरामदे के एक कमरे में सोने दिया करते हैं,और रविवार को जुटे ग्रामीण ससुराल वाले खुलेआम बोल रहे थे कि पब्लिक पेटिशन अधिकारियों को देकर नवविवाहिता रूबी को घर से बाहर कर दिया जाय।ससुरालवाले और पति रूबी के दुसरे जात की होने की से नहीं रखने की किसी भी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।ससुरावाले को यह भी तनाव है कि पाँच भाईयों में मंझले राम मनोज यादव द्वारा प्रेम विवाह कर लिये जाने के बाद बड़े भाई के साथ अन्य तीन भाईयों की शादी में भी जातीय अड़चन आ सकती है।इसलिए भी रूबी को परिवार में तंग तबाह कर किसी तरह से बाहर निकालने की साजिश ससुरावाले रच रहें हैं।

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष परिजनों ग्रमीणों से मिले सुचना के आधार पर मामले की जाँच पड़ताल की गयी है।फिलहाल नवविवाहिता को बरामदे वाले कमरे से निकलवाकर घर अंदर रखवा दिया गया है।नवविवाहिता से पुछताछ की गयी है।ससुरालवाले को कड़ी हिदायत दी गयी है कि किसी प्रकार की कठिनाई नहीं हो नी चाहिये।नवविवाहिता के परिजन के आने बाद जिस तरह का बयान आयेगा उसके बाद कानुनसम्मत कार्रवाई की जायेगी।

You may have missed

You cannot copy content of this page