रेल कौशल विकास योजना के अंतर्गत कुल 69 प्रशिक्षणार्थियों को दिया गया प्रमाण पत्र

Rail Kaushal Vikas Yojana

रेल कौशल विकास योजना के अंतर्गत पूर्व मध्य रेल के विभिन्न प्रशिक्षण केंद्रों में प्रशिक्षण के उपरांत उत्तीर्ण कुल 69 प्रशिक्षणार्थियों को दिया गया प्रमाण पत्र अब तक प्रशिक्षणोंपरांत उतीर्ण कुल 753 युवाओं को दिया गया प्रमाण पत्र।

बरौनी पूर्व मध्य रेल द्वारा द्वारा रेल कौशल विकास योजना के अन्तर्गत युवाओं को उद्योग आधारित प्रशिक्षण प्रदान कर कुशल एवं रोजगार के लिए सक्षम बनाने के प्रयास के तहत पूर्व मध्य रेल के इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन प्रशिक्षण केंद्र/पं.दीन दयाल उपाध्याय मंडल, सवारी डिब्बा मरम्मत कारखाना/हरनौत, पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केंद्र/समस्तीपुर एवं यांत्रिक कारखाना/समस्तीपुर, तथा सिगनल एवं दूरसंचार प्रशिक्षण केंद्र/दानापुर में दिनांक 11 से 30 अगस्त तक प्रशिक्षण के उपरांत 69 प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।इस योजना के तहत पूर्व मध्य रेल के विभिन्न प्रशिक्षण केंद्रों द्वारा अब तक 753 युवाओं को प्रमाण पत्र प्रदान किया जा चुका है।

पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल के विद्युत कर्षण प्रशिक्षण केंद्र में विभिन्न ट्रेड में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले 19 प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान किया। इसी क्रम में सवारी डिब्बा मरम्मत कारखाना,हरनौत में प्रशिक्षण अवधि की समाप्ति के उपरांत मशीनिस्ट तथा वेल्डर कैटोगरी के 13 प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र प्रदान किया।साथ ही पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केन्द्र,समस्तीपुर तथा यॉंत्रिक कारखाना समस्तीपुर में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले 17 तथा सिगनल एवं दूरसंचार प्रशिक्षण केंद्र, दानापुर में 20 प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान किया।

प्रशिक्षुओं ने प्रशिक्षण पूरा होने पर काफी संतोष व्यक्त किया।उन्होंने ज्ञानवर्द्धन और आत्मविश्वास को बढ़ाने में इस प्रशिक्षण को काफी उपयोगी पाया है। आवेदक https://railkvy.indianrailways.gov.in पर विजिट कर ट्रेड से जुड़ी समस्त जानकारी, प्रशिक्षण संस्थान का विवरण, ऑनलाइन आवेदन पत्र सहित अन्य सभी सूचनाएं आसानीपूर्वक प्राप्त कर सकते हैं।रेल कौशल विकास योजना आजादी के अमृत महोत्सव के 75वें साल के हिस्से के रूप में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत् भारतीय रेल द्वारा अपनाए गए कौशल भारत मिशन का एक अभिन्न अंग है । इस पहल का मूल उद्देश्य युवाओं को विभिन्न ट्रेडों में गुणात्मक सुधार लाने के लिए प्रशिक्षण कौशल प्रदान करना है ।

ये भी पढ़ें   चकिया थाना क्षेत्र स्थित गंगा नदी से दो दिन पूर्व डूबे हुए दो छात्र का शव हुआ बरामद, एक कि तलाश जारी

18 से 35 आयुवर्ग के युवा जो 10वीं कक्षा पास कर चुके हैं, योग्यता के आधार पर निःशुल्क प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं । यह योजना युवाओं के रोजगार क्षमता में सुधार तथा स्वरोजगार के इच्छुक युवाओं के कौशल को उन्नत करेगा । रेल कौशल विकास योजना कार्यक्रम के लिए प्रशिक्षुओं का चयन खुले विज्ञापन और पारदर्शी शॉर्ट-लिस्टिंग तंत्र के माध्यम से किया जाता है। प्रशिक्षण के बाद, सभी प्रशिक्षुओं का एक मानकीकृत मूल्यांकन किया जाता है और सफल प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र से सम्मानित किया जाता है।