चार साल से बेगूसराय शेल्टर होम में रही बांग्लादेशी महिला की वतन वापसी जल्द

Watan Wapsi Begusarai

डेस्क : बांग्लादेशी महिला सवेरा बेगम की वतन वापसी की राहें चार सालों के बाद अब खुलती नज़र आ रही है। ज्ञात हो की बिहार के बेगूसराय शेल्टर होम में यह बांग्लादेशी महिला पिछले चार सालों से रह रही है। पर अब मानवाधिकार कार्यकर्ता विशाल दफ्तुआर के प्रयासों से इनकी वतन वापसी की प्रक्रिया अपने अंतिम चरण में है। एचआरयूएफ (HRUF) के विशाल दफ्तुआर के अथक प्रयासों से ही यह असंभव् सा दिखने वाला कार्य अब संभव होता दिख रहा है।

विशाल दफ्तुआर ने इस मामले पर इसी साल फरवरी में संज्ञान लिया था। अब इनके अथक प्रयासों का ही नतीजा है जो काम पिछले चार सालों में नहीं हो पाया था वो मात्र आठ महीने के भीतर सम्पन्न होने की दिशा में अग्रसर है। यहाँ जानकारी के लिए बता दे की एचआरयूएफ(HRUF) का यह तीसरा सफल अंतरराष्ट्रीय मिशन होगा। बांग्लादेश सरकार ने भी संस्था के मानवीय कार्यों की तारीफ की थी। उनका ट्रेवल परमिट भी उन्हें उपलब्ध करवाया है।

अब इसी सिलसिले में विशाल दफ्तुआर आज बेगूसराय जाकर महिला से मुलाकात किये। वहां वह उनके ट्रेवल परमिट पर उनका हस्ताक्षर लिए। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से भी प्रक्रिया की जानकारी ली। साथ ही, उन्होंने आशा जतायी कि प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद अक्टूबर में उसकी वतन वापसी हो जायेगी। बांग्लादेशी महिला की वतन वापसी के मिशन में लगे ह्यूमन राइट्स अम्ब्रेला फाउंडेशन के चेयरमैन और मानवाधिकार कार्यकर्ता विशाल रंजन दफ्तुआर काफी समय से प्रयासरत रहे हैं। उन्होंने बताया कि बेगूसराय डीएम और एसपी से भी इस सिलसिले में मुलाकात की कोशिश की जाएगी।