दिल्ली से बेगूसराय शादी में शामिल होने आये युवा चिकित्सक की कोरोना से गयी जान

Doctor Niraj

न्यूज डेस्क : कोरोनाकाल में थोड़ी सी लापरवाही जानलेवा हो सकती है कोरोना वायरस संक्रमण के दूसरे तेज खतरनाक लहर में सर्तक,जागरूक और सजग रहने की आवश्यकता है।सर्दी,खांसी,बुखार की स्थिति में चिकित्सक की सलाह लोगों को अवश्य लेनी चाहिए। बताते चलें कि कोरोना वायरस संक्रमण काल पार्ट 2 में इसका बढ़ता प्रभाव क्या वृद्ध , क्या युवा किसी को भी नहीं छोड़ रहा।

बीते दिन शनिवार को बेगूसराय के बरौनी, शोकहरा 2 पंचायत के वार्ड 11 निवासी स्व अनिल शर्मा के पुत्र डॉ अर्पण शर्मा की मौत हो गयी । वह स्पीच एण्ड हेयरिंग की चार वर्षीय चिकित्सीय डिग्री पढ़ाई में उत्तीर्णता हासिल कर दिल्ली के निजी अस्पताल में चिकित्सक के तौर पर कार्य कर रहे थे। बताते चलें कि 28 वर्षीय युवा चिकित्सक डॉ अर्पण शर्मा की कोरोना वायरस संक्रमण के कारण बरौनी के लाइफ लाइन अस्पताल में इलाज के दौरान 7 मई की देर रात लगभग 10 बजे मौत हो गई। वह बेहद मिलनसार व्यक्तित्व के धनी व्यक्ति थे। इस होनहार युवक के मौत की खबर से क्षेत्र के लोग खासकर युवा वर्ग में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है।

शादी समारोह में शामिल होने आए थे घर : जानकारों के अनुसार अर्पण शर्मा उर्फ़ गोलू शादी समारोह में शामिल होने बरौनी अपने घर आया हुए थे।इसी दौरान उसे सांस लेने में तकलीफ होने में तकलीफ महसूस हुई।जिसके बाद अर्पण ने अपनी कोरोना जांच करवाई रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद वह तुरंत परिजन के मदद से उचित चिकित्सा के लिए लाइफलाइन अस्पताल बरौनी में भर्ती कराया गया।जिसके बाद उक्त परिवार के सभी लोगों ने भी तेघड़ा प्रखण्ड से भेजे गये मेडिकल टीम के सदस्यों के द्वारा कोरोना की जांच कराई।जिसमें परिवार के अन्य सभी सदस्यों की रिपोर्ट निगेटिव आई।मृतक युवक की मौत का सबसे बड़ा कारण लंग्स इंफेक्सन एवं समय पर रेमडेसिविर इंजेक्शन की अनुपलब्धता बताई जा रही है।मृतक अर्पण शर्मा दो भाई एक बहन में सबसे छोटा था।मृतक के पिता की मौत बिमारी के कारण कई वर्ष पूर्व में ही हो चुकी थी।मृतक का अंतिम संस्कार सरकार एवं जिला प्रशासन के द्वारा निर्देशित कोविड नियमों के तहत सिमरिया घाट पर किया गया।   

बरौनी से नीरज कुमार की रिपोर्ट

You cannot copy content of this page