झारखंड के वित्त मंत्री के बयान से बेगूसराय में आक्रोश , मारवाड़ी युवा मंच ने कहा कुत्सित और विभेदपूर्ण बयान

Rameshwar Uron

बेगूसराय : झारखंड के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव द्वारा बिहारी और मारवाड़ी समुदाय पर दिए गए बयान से लोगों में आक्रोश का माहौल है। मारवाड़ी युवा मंच फिर बिहार प्रांतीय संयोजक मोहित अग्रवाल ने रामेश्वर उरांव द्वारा बिहारी और मारवाड़ी समुदाय पर दिए गए बयान को कुत्सित और विभेदपूर्ण है। मोहित अग्रवाल ने बयान की निंदा करते हुए बुधवार को कहा कि झारखंड के एक वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री का ऐसा बयान अक्षम्य है। हिंदीभाषी और मारवाड़ी समाज इसकी तीव्र भर्त्सना करता है।

ऐसी मानसिकता लेकर मंत्री रामेश्वर उरांव इन दिनों समाज के प्रति कितने संवेदनशील होंगे, इसका अंदाजा भी लग जाता है। उन्होंने कहा कि बिहारी और मारवाड़ी समाज केवल देश ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व में अपनी कर्मठता और देशभक्ति के लिए जाने जाते हैं। यह दोनों ऐसे समाज हैं जो निरंतर देश के विकास में योगदान देते रहते हैं। ऐसे समाज के प्रति दिए गए अनर्गल बयान के लिए मंत्री रामेश्वर उरांव को तुरंत माफी मांगनी चाहिए। मोहित अग्रवाल ने कहा की मंत्री की मानसिकता आज भी पुरातन और वास्तविकता से परे हैं। वे शायद रांची को आदिम युग में देखना चाहते हैं।

आज झारखंड जहां देश के विकास के साथ कदमताल कर रहा है, वहीं एक मंत्री के ऐसे बयान से इन दोनों समाज को गहरी चोट पहुंची है। मारवाड़ी युवा मंच बखरी बाजार शाखा के अध्यक्ष रणधीर तुलस्यान एवं सचिव गौरव टिवरेवाल ने कहा कि मंत्री को अपने गिरेबान में झांक कर यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि आज झारखंड में उनकी सरकार है और विकास की पूरी जिम्मेदारी उनकी है। वे विकास में कहीं ना कहीं पिछड़ रहे हैं और इसका ठीकरा वे बिहारी और मारवाड़ी समाज पर फोड़ रहे हैं।

अगर आदिवासी समाज का विकास करना है तो सरकार के कैबिनेट मंत्री के तौर पर उन्हें किसी पर अनर्गल दोषारोपण नहीं कर, ऐसी नीतियां बनानी चाहिए जो आदिवासी सहित सभी समाज को विकास की ओर ले जाए। ऐसा करने के बजाय वे अपनी गलतियां दूसरों के सिर डाल बचने की कोशिश कर रहे हैं। यह उनकी अल्प बुद्धि का परिचायक है। वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव के बयान से मारवाड़ी समाज में रोष व्याप्त है।

You cannot copy content of this page