2 बच्चे की मां सीमा ने BPSC की परीक्षा में मारी बाजी, BDO बन बढ़ाया अपने ससुराल का मान..

Ambika Yadav

न्यूज डेस्क: कहते हैं पढ़ने के लिए उम्र की सीमा नहीं होती और पढ़ने वालों ने जब सपने ही बड़े देखें है तो संघर्ष छोटा कैसे हो सकता हैं। सदर प्रखंड के दियारा इलाके की रामपुर टेंगराही पंचायत के सेमराही गांव निवासी अंबिका यादव ने भी बड़े सपने देखें है और संघर्ष भी। दो बच्चे की मां सीमा देवी अपने ससुर व पति की इजाजत लेकर अपने मायके आई। दिल्ली में रहकर सरकारी विद्यालय में नौकरी के साथ ही अपने बच्चों को संभाल रही थी और साथ साथ खुद पढ़ाई करती रहीं। इस लगन ने सेमराही गांव के नाम को रोशन कर दिया। सीमा देवी ने बीपीएसपी परीक्षा में 112 रैंक लाकर अब डीएसपी बन गईं है।

दरअसल, शादी के बाद सीमा अपने ससुराल पहुंच कर अपने परिवार के सदस्यों के साथ रहने लगी। इनके दो बच्चे हुए। इस बीच सीमा देवी ने अपनी पढ़ाई जारी रखने की इच्छा अपने ससुर तथा पति को बताया। ससुर तथा पति ने सीमा देवी को दिल्ली में पढ़ाई करने की अनुमति दे दिया। सीमा देवी अपने बच्चों को लेकर दिल्ली पहुंच गई। दिल्ली में सीमा देवी एमसीडी स्कूल में नौकरी कर शिक्षक के रूप में बच्चों को पढ़ाने लगी। बच्चों को पढ़ाने के साथ ही सीमा देवी अपनी पढ़ाई भी करती रहीं। इस दौरान सीमा ने 64 वां बीपीएससी की परीक्षा में भाग लिया। जिसमें सीमा देवी को112 वां रैंक मिला। इनका चयन डीएसपी के पद पर हुआ है।

दरअसल,शादी के बाद से ही सीमा अपने ससुराल में अपने परिवार के सदस्यों के साथ रहने लगी। इनके दो बच्चे हुए। इस बीच सीमा देवी ने अपनी पढ़ाई जारी रखने की इच्छा ससुर तथा पति को बताई। ससुर तथा पति ने सीमा देवी को दिल्ली में पढ़ाई करने की अनुमति दे दिया। तभी सीमा देवी अपने बच्चों को लेकर दिल्ली पहुंच गई। दिल्ली में सीमा देवी एमसीडी स्कूल में नौकरी कर शिक्षक के रूप में बच्चों को भी पढ़ाने लगी। बच्चों को पढ़ाने के साथ ही वह अपनी पढ़ाई भी करती रहीं। इस दौरान सीमा ने 64 वां बीपीएससी की परीक्षा में भाग लिया जिसमें सीमा को112 वां रैंक मिला।

You may have missed

You cannot copy content of this page