न्यायालय में पेशी के दौरान फरार हुआ अभियुक्त आठ महीने बाद धराया

Begusarai Court

डेस्क : साल 2019 के दिसम्बर में बेगूसराय व्यवहार न्यायालय से पेशी के दौरान पुलिस को चकमा देकर एक मर्डर केस का फरार अभियुक्त फिर से सलाखों के पीछे पहुंच गया है। बताते चलें कि मंझौल के बाबा टोला निवासी मंगल सिंह के पुत्र मनीष पर अपने रिश्तेदार एक महिला की हत्या समेत, आर्म्स एक्ट और एक अन्य मामला दर्ज है। साल 2017 में मंझौल ओपी क्षेत्र के बाबा टोला स्थित अपने घर के बगल में एक रिश्तेदार की गोली मारकर हत्या करने के आरोप में जेल गया था।

लेकिन क्रिमिनल माइंडेड मनीष पिछले साल 5 दिसम्बर को बेगूसराय सेशन कोर्ट में पेशी के बाद पुलिस बाले को बाथरूम जाने की बात कहकर चकमा देकर भाग गया। और तब लेकर शुक्रवार को गिरफ्तार होने से पहले पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था।सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार इस बीच करीब दो महीने पहले तक मनीष कुमार अपने गृह क्षेत्र मंझौल के आउट साइड यानी कि बहियार – गाछी में देखा जाता था। इस बीच मनीष के मन से कानून का भय खत्म होता दिख रहा था एक के बाद एक फायरिंग की घटना एवं शोषल मिडिया पर अवैध हथियार की तस्वीर पोस्ट करता गया।

लेकिन कानों कान किसी को भी खबर नहीं लगी। आखिर कार कानून के लंबे हाथ मनीष के गर्दन तक पहुँच ही गया। और जिले के सिंघौल ओपी अध्यक्ष मनीष कुमार ने मनीष को ओपी क्षेत्र के पचम्बा से दो अन्य युवक के साथ आपराधिक घटना की योजना बनाते गिरफ्तार कर लिया।