एक विवाह ऐसा भी जो देगा आजीवन दर्द, धरा रहा गया लजीज व्यंजन और मिठाइयां, भाग गए बारात और दूल्हा

Shadi

न्यूज डेस्क : बेगूसराय में बिना शादी का ही लड़का और बारात लौट गया। जिले में हो रही यह शादी इन दिनों चर व्यापक चर्चा का विषय बना हुआ है । बताते चलें कि बीते रविवार की रात बेगूसराय जिले के खोदावंदपुर थाना क्षेत्र में हो रही एक शादी में दूल्हा और उसके संग आई बारात बिना शादी किए ही इसलिए फरार हो गए, क्योंकि इस शादी में हर्ष फायरिंग के दौरान वर पक्ष के एक युवक को गोली लग गई। हालांकि इस दौरान लोगों ने गोली लगे युवक को आनन-फानन में बेगूसराय निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया। जहां उसकी स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई है।

मिली जानकारी के मुताबिक खोदावंदपुर थाना क्षेत्र के नुरुल्लाह पुर गांव में बखरी थाना क्षेत्र के बागबान गांव से आई बारात के स्वागत में खानपान के लिए बनाए गए सारे लजीज व्यंजन व मिठाईयां धरी की धरी रह गई । लड़का और लड़की की शादी की सभी तैयारियां भी फीकी पड़ गई । हालांकि अभी स्थानीय लोग इस मामले पर कुछ भी कहने से बच रहे हैं। बताते चलें कि खुशी के लिए किया गया हर्ष फायरिंग इन दोनों परिवारों के लिए आजीवन बन गम का मिसाल बन गया। हर्ष फायरिंग की घटना तब घटी जब बारात दरवाजे पर थी जयमाला की रस्म की जा रही थी। हालांकि जयमाला के लिए लड़का और लड़की दोनों एक साथ नहीं पहुंचे थे कि सभी मुकम्मल तैयारी कर ली गई थी। कुछ मिनटों में ही इसी वक्त नाच गान के क्रम में गोली किसने चलाई या बात अभी अबूझ पहेली बना हुआ है, लेकिन चली गोली लगने से घायल युवक बेगूसराय के निजी अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है।

बताते चलें कि बेगूसराय जिले में हर्ष फायरिंग की यह कोई पहली घटना नहीं है, इससे पहले भी कई बार जिले में हर्ष फायरिंग की घटना में लोगों को गोली लगने की खबर आती रहती है । मामला इतनी गंभीर हो जाती है कि गोली लगे व्यक्ति कि जान भी चली गई है। विगत डेढ़ से 2 साल में पूरे जिले में हर्ष फायरिंग की ऐसी कई घटनाएं घटी , जिसमें कुछ मामलों में गोली लगने से व्यक्ति घायल हो गए हैं तो एक दो मामले में मृत भी हो गए हैं। अमूमन हर्ष फायरिंग की घटना प्रकाश में तब आती है जब कोई घायल होते हैं या किसी को गोली लगती है। लेकिन बेगूसराय में होने वाले रोजाना शादियों में कई ऐसे शादी होती है जहां पर रसूखदार लोग अपना रसूख दिखाने के लिए हर्ष फायरिंग करते हैं । लेकिन फायरिंग करने से पहले उनको यह पता नहीं होती है कि चंद लम्हों की खुशी आजीवन दुखों का कारण बन सकता है।

You cannot copy content of this page