बेगूसराय में बीते 60 घण्टे में गयी 8 जानें, अब भी नहीं चेते तो बन जायेगा वूहान

Covid Begusarai

न्यूज डेस्क : बेगूसराय में कोरोना के प्रकोप ने लोगों को बेदम कर रखा है। ऐसे समय में कब कहां और किधर से लोगों के मृत्यु की खबर आ जाए, यह कहना अब संभव नहीं है। क्योंकि बीते कुछ दिनों में बेगूसराय के अलग-अलग जगहों से अलग-अलग क्षेत्रों से जहां किसी ने अनुमान भी नहीं लगाया होगा कि कोरोनावायरस यहां तक पहुंच गया है या फिर यहां तक कोरोनावायरस का संक्रमण हो चुका है वहां से भी अनायास लोगों की मरने की खबर सामने आ रही है।

हालांकि जिला में सभी मरने वाले कोरोना पॉजिटिव ही नहीं होते हैं, लेकिन लोगों में ऐसा वहम बनता जा रहा है कि जो मर रहा है उसे कोरोनावायरस श्रेणी में रखकर भयभीत हो रहे हैं। बरहाल बीते 60 घंटों में जिले में 8 लोगों की मौत कोरोनावायरस से हुई है। जिसमें नावकोठी प्रखंड से दो , बखरी प्रखंड से दो , बरौनी एवं नगर परिषद बिहार से एक -एक एवं मंसूरचक प्रखंड व बेगूसराय सदर प्रखंड के बागी से एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। बताते चलें कि बेगूसराय जिले में 2020 में कोरोना से जो तबाही हुआ था उससे कहीं ज्यादा और विकराल रूप 2021 में कोरोना का यह रूप देखा जा रहा है। कोरोना के फेज टू में बेगूसराय में अब तक करीब दो दर्जन से ज्यादा मौतें हो चुकी है। आलम यह है कि हर रोज जिले के अलग-अलग क्षेत्रों से लोगों के मरने की खबर आ रही है।

कुछ लोग अब भी हैं बेखौफ और दुकानदार तोर रहे नियम बाजारों में अब भी अधिकांश लोग बिना मास्क के बेखौफ घूमते रहते हैं, और 2 गज की दूरी का पालन करना भी उचित नहीं समझते हैं। हालांकि लोगों में अब कोरोनावायरस से बचाव को लेकर जागरूकता देखी जा रही है। लेकिन वैसे लोग जो कोरोना को हल्के में ले रहे हैं वह समाज के लिए खतरा साबित हो सकते हैं। बेगूसराय में जिला प्रशासन के द्वारा तीन-तीन दिनों के अल्टरनेट मोड पर दुकान खोलने के निर्देश जारी किए गए हैं। लेकिन बेगूसराय जिले के कई बाजारों से ऐसी तस्वीर और खबरें सामने आती रहती है कि दुकानदार कानून का उल्लंघन करके दुकान खोल रहे हैं, मीडिया में खबरें प्रकाशित होने के बाद भी प्रशासनिक स्तर से कार्यवाही करने में थोड़ी बहुत कसर देखी जा रही है।

अगर ऐसी स्थिति बनी रहे तो वह दिन दूर नहीं जब बेगूसराय वुहान बन सकता है। इन सभी चीजों के बीच जिला प्रशासन लगातार अलर्ट मोड पर काम कर रही है हॉस्पिटल में मरीजों के लिए व्यवस्था करवा रही है लेकिन ज्यादातर केस में तमाम व्यवस्थाएं नाकाफी साबित हो रही है। वही कोरोनावायरस के दौरान बेगूसराय जिले में कुछ निजी अस्पताल इसे आपदा में अवसर के रूप में लिया है जहां कोरोनावायरस के नाम पर पैसे लूट खसोट करने की अवैध धंधे की जा रही है।

You cannot copy content of this page