बेगूसराय के बलिया दुष्कर्म के प्रयास का मामला आया सामने , पीड़िता ने डीएसपी से लगाई न्याय की गुहार

Attempt to Rape

न्यूज डेस्क , बेगूसराय : बेगूसराय से एक बार फिर मानवता को शर्मशार करने वाला मामला प्रकाश में आया है। जहां अज्ञात मनचले लड़के के द्वारा नाबालिग लड़की के घर में घुसकर जबरन दुष्कर्म करने का प्रयास किया गया।

फिर सामाजिक स्तर पर मामले को दबाने की कोशिश किया गया। इन दिनों बेगूसराय जिले में दुष्कर्म की घटनाएं आम होती दिख रही है। हर बीते दिन अज्ञात लड़के द्वारा इस कुकृत घटना को अंजाम दिया जा रहा है। ताजा मामला बलिया अनुमंडल क्षेत्र से जुड़ा हुआ है। जहाँ एक गाँव में मनचले लड़के द्वारा घर में अकेली सो रही लड़की के साथ दुष्कर्म के घटना को अंजाम दिया गया। और मौके पर से फरार हो गए।

आखिर क्या है पूरा मामला दरअसल, सोमवार की रात पीड़िता लड़की अपने घर में अकेली सोई हुई थी। इसी क्रम में उसके पड़ोसी युवक द्वारा घर में जबरन घुसकर साथ छेड़खानी करने लगा। तभी पीड़िता लड़की के द्वारा चिल्लाने की आवाज आई। आवाज सुनते ही मौके पर परिजन पहुंचे, तब तक मौका पाकर मनचले लड़के फरार हो चुका था। फिर अगले सुबह मंगलवार को पंचायतनामा बैठाया गया। हालांकि, सामाजिक स्तर पर मुखिया सरपंच के द्वारा इस मामले को निपटाने का प्रयास किया गया। लेकिन, इस संबंध में पीड़ित लड़की ने बताया इस ‌युवक के द्वरा गांव में इस तरह के कई घटना को अंजाम दे चुके हैं, और अब इस बार आरोपी युवक को बख्शा नहीं जाएगा।

अगर सामाजिक स्तर पर इसी तरह युवक को छोड़ दिया जाऐगा। तो फिर से वह युवक किसी दूसरी लड़की के साथ घटना को अंजाम देगा। अंत में पीड़िता लड़की पंचायतनामा को नकारते हुए बलिया थाना के डीएसपी बीर धीरेंद्र के समक्ष आवेदन देकर मदद की गुहार लगाई। इस संबंध में डीएसपी कुमार वीर धीरेंद्र ने बताया पीड़ित के द्वारा आवेदन दिया गया है जिसको लेकर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। जल्द ही प्राथमिकी दर्ज कर दोषी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। वही इस घटना को लेकर गांव में काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। स्थानीय ग्रामीणों के अनुसार कई लोग जुर्माने की राशि वसूल कर इस संगीन मामले की सामाजिक अस्तर से मामले को दबाने के फिराक में थे। ग्रामीणों की माने तो सरपंच, मुखिया के द्वारा 1000-500 रुपया पीड़िता परिवार को देखकर मामला को शांत रहना चाहते थे।

You may have missed

You cannot copy content of this page