आखिर ट्रक के पीछे “Horn OK Please” क्यों लिखा होता है? 99% लोगों को नहीं पता होगा….

Horn OK Please

Horn OK Please : आपने अक्सर ट्रकों के पीछे हॉर्न ओके प्लीज लिखा देखा होगा। हमारे देश में हर ट्रक के पीछे यह शब्द लिखा होता है। ‘हॉर्न ओके प्लीज’ (Horn OK Please) भी ट्रकों के लिए काफी लोकप्रिय लाइन है। इस पर एक फिल्म भी बन चुकी है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ट्रकों के पीछे ऐसा क्यों लिखा होता है? आपको लग रहा होगा कि ये लाइन यूं ही लिखी गई होगी. लेकिन ऐसा नहीं है। वह बात अलग है कि ‘हॉर्न ओके प्लीज’ का कानूनी या आधिकारिक मतलब नहीं होता है लेकिन ट्रकों के लिए यह नियम की तरह होता है। आइए जानते हैं इस लाइन का मतलब और क्या इसे लिखना जरूरी है?

इसलिए ट्रकों पर लिखा होता है ‘हॉर्न ओके प्लीज’ : ‘हॉर्न ओके प्लीज’ का मतलब है कि जब भी आप ओवरटेक करें या साइड से खींचे तो हॉर्न बजाएं। यह रेखा आगे जाने वाले वाहनों को पास लेते समय हार्न बजाने का अनुरोध करती है जिससे यह संकेत मिलता है कि आप ओवरटेक करने वाले हैं। यह लाइन काफी पहले ट्रकों पर आ गई थी। ऐसा इसलिए क्योंकि पहले कई ट्रक ऐसे होते थे जिनमें साइड मिरर नहीं लगे होते थे। ऐसे में चालक के पास एक ही विकल्प था हॉर्न, जिससे पता चलता था कि पीछे कोई वाहन है या नहीं. अब सवाल ये है कि ये काम तो ‘हॉर्न प्लीज’ से ही होता है फिर बीच में OK क्यों लिखा होता है? इसके पीछे भी एक मकसद है।

हॉर्न प्लीज के बीच क्यों लिखा होता है : हॉर्न प्लीज के बीच में OK लिखने के कई कारण होते हैं. पहला द्वितीय विश्व युद्ध से संबंधित है। दरअसल, जब दुनिया में दूसरा विश्व युद्ध चल रहा था, तब हर जगह डीजल की भारी किल्लत हो गई थी। उस समय ट्रकों में मिट्टी का तेल भरा जाता था। मिट्टी का तेल अत्यधिक ज्वलनशील होता है। ट्रक दुर्घटना होने पर वे जल्दी से आग पकड़ लेते थे। इसलिए सभी चालकों को सतर्क करने के लिए ट्रकों के पीछे ‘ऑन केरोसिन’ लिखा हुआ था। जो बाद में ओके हो गया।

OK लिखने का दूसरा कारण यह है कि पुराने समय में ज्यादातर सड़कों में सिंगल लेन ही हुआ करती थी। ट्रक का पीछा करने वाले छोटे वाहनों को दूसरी तरफ से आने वाले वाहनों को ओवरटेक करने में सावधानी बरतनी पड़ी। चूंकि ट्रक साइज में काफी बड़े होते हैं, इस वजह से उनके पीछे देखना काफी मुश्किल होता था। इस वजह से ‘ओके’ शब्द के साथ एक सफेद रंग का बल्ब लगा दिया गया। जब भी पीछे से कोई वाहन हॉर्न बजाता, तो ट्रक चालक ओके बल्ब जला देता। जिसका मकसद छोटे वाहनों को यह बताना था कि वे ओवरटेक कर सकते हैं।