Traffic Rule : अब हेलमेट पर कैमरा लगाने पर खैर नहीं! होगा तगड़ा चालान, ड्राइविंग लाइसेंस भी होगा रद्द..

Traffic rule

डेस्क : आपने अक्सर यूट्यूब पर या सड़क पर बाइक सवारों के कैमरों में हेलमेट देखे होंगे। कुछ व्लॉगर्स बाइक चलाते समय हेलमेट पर लगे कैमरों से वीडियो भी शूट करते हैं और सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं। लेकिन अगर आप दक्षिणी राज्य केरल में ये काम करते हैं, तो आपको पछताना पड़ सकता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक केरल मोटर व्हीकल डिपार्टमेंट हेलमेट पर लगे कैमरों को चुनौती देने के लिए नियम बना रहा है. अगर नए नियम लागू होते हैं तो हेलमेट पर कैमरा ढूंढने पर 1,000 रुपये का चालान किया जा सकता है। वहीं, बाइक सवार का ड्राइविंग लाइसेंस तीन महीने के लिए रद्द किया जा सकता है।

हेलमेट कैमरों पर प्रतिबंध क्यों? केरल मोटर वाहन विभाग ने पिछले साल इसी तरह का प्रयास किया था। उस समय इसे लाने का उद्देश्य सार्वजनिक सड़कों पर रेसिंग, स्टंट और अन्य असामाजिक गतिविधियों को रोकना था। हालांकि इस बार वजह बिल्कुल अलग है। इस बार वाहन विभाग का कहना है कि हेलमेट पर कैमरे लगाने से हेलमेट की परफॉर्मेंस पर असर पड़ता है. दुर्घटना की स्थिति में, हेलमेट अपनी क्षमता को कम कर सकता है, जिससे सवार के लिए जोखिम काफी बढ़ जाता है।

माइकल शूमाकर का उदाहरण : केरल मोटर वाहन विभाग ने हेलमेट कैमरों पर प्रतिबंध के पीछे प्रसिद्ध फॉर्मूला वन ड्राइवर माइकल शूमाकर का उदाहरण दिया है। स्कीइंग दुर्घटना के दौरान माइकल शूमाकर की चोटों के मुख्य कारणों में से एक हेलमेट कैमरे को दोषी ठहराया गया था। वहीं बीबीसी जैसी कुछ नामी कंपनियों का दावा है कि क्रैश होने की स्थिति में हेलमेट भी कैमरे पर कुछ दबाव डालता है, इसलिए यह काफी सुरक्षित है.

ये भी पढ़ें   देश में 1 साल के भीतर Electric Car की कीमत होगी आधी से भी कम, जानें - Nitin Gadkari का पूरा प्लान..

FIA पर भी लगा था प्रतिबंध : मोटरस्पोर्ट के सबसे बड़े शासी निकायों में से एक, फ़ेडरेशन इंटरनेशनेल डी’ऑटोमोबाइल (FIA) ने भी हेलमेट पर कैमरों के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है। यदि आप अभी भी सवारी करते समय कैमरे का उपयोग करना चाहते हैं, तो आप मोटरसाइकिल पर कैमरे का उपयोग कर सकते हैं। वहीं, कुछ राइडर्स राइडिंग जैकेट पर कैमरा लगाने की सलाह देते हैं।