‘नो टोल प्लाजा, नो Fast Tags..सीधे Bank Account से कटेगा टोल’, नितिन गडकरी ने दी बड़ी जानकारी..

Toll Plazza

डेस्क : आपने कभी सोचा है कि आपकी गाड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highways) पर सरपट दौड़ रही है. आपको टोल टैक्स (TollTax) देने के लिए रूकना ही नहीं पड़ रहा तो आप सही समझ रहे हैं. ऐसे में आपको टोल टैक्स से तो आपको राहत नहीं मिलेगी, लेकिन टोल प्लाजा (Toll Plazas) पर रुकने की परेशानी से राहत जरूर मिल जाएगी. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (Ministry Of Road Transport And Highways) जल्द ही सभी टोल प्लाजा और फास्ट टैग को अब खत्म करने जा रहा है.

इस बेहतरीन योजना को अमल में लाने के लिए एक पायलट प्रोजेक्ट जैसा कार्य चल रहा है. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री (Minister For Road Transport And Highways) नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) के मुताबिक भारत सरकार भारत (India) के नेशनल हाइवे पर टोल प्लाजा को हटाने की योजना के साथ आगे बढ़ रही है. इस योजना को अमल में लाने के बाद वाहनों की नंबर प्लेट की कैमरे (Camera) से फोटो क्लिक होने के साथ ही उनके बैंक एकाउंट से टोल का पैसा कट जाएगा.

साल 2019 से ही चल रही थी इसकी तैयारी : केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बताया, साल “2019 में, हमने एक नियम बनाया कि सभी कार निर्माता कंपनी-फिटेड नंबर प्लेट के साथ आएंगी. इसलिए बीते 4 साल में जो वाहन आए हैं उन पर अलग-अलग नंबर प्लेट लगे हुए हैं.” उन्होंने कहा, “अब टोल प्लाजा को हटा करकैमरे लगाने की योजना है, जो इन नंबर प्लेट को रीड कर सकेंगे और सीधे बैंक एकाउंट से टोल टैक्स काट लिया जाएगा.”

ये भी पढ़ें   खुशखबरी! बिना पैसे दिए अपने घर ले आएं Honda Activa! जानें - क्या है खास ऑफर..

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री गडकरी ने बताया, “हम इस योजना का पायलट परीक्षण भी कर रहे हैं. हालांकि, इसमें यह एक परेशानी है कि कानून के तहत टोल प्लाजा को छोड़ देने वाले और टोल टैक्स का भुगतान न करने वाले वाहन मालिक को सजा देने का कोई भी प्रावधान (Provision) नहीं है. हमें उस प्रावधान को कानून (Law) के दायरे में लाने की सख्त जरूरत है. हम उन कारों के लिए भी एक प्रावधान ला सकते हैं जिनमें ये नंबर प्लेट (Number Plates) नहीं हैं, उन्हें एक तय वक्त के अंदर नंबर प्लेट लगाने के लिए कहा जाएगा. हमें इसके लिए सदन में एक विधेयक (Bill) लाना होगा.”

नितिन गडकरी ने यह भी बताया कि अब टोल प्लाजा की जगह ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर कैमरों पर निर्भर है, जो वाहन के नंबर प्लेट पढ़ेंगे और वाहन मालिकों के लिंक किए गए बैंक एकाउंट से स्वचालित रूप से टोल टैक्स काट लेंगे. उन्होंने कहा कि इस योजना का एक पायलट परीक्षण चल रहा है और इस बदलाव को और भी सुविधाजनक बनाने के लिए कानूनी संशोधन भी किए जा रहे हैं.

Fast Tags से होता 97 टोल टैक्स कलेक्शन : मौजूदा समय में लगभग 40,000 करोड़ रुपये के कुल टोल कलेक्शन (Toll Collection) का लगभग 97 प्रतिशत फास्ट टैग (FASTags) के जरिए होता है. बाकी बचे 3 प्रतिशत फास्ट टैग का इस्तेमाल न करने की वजह से सामान्य टोल दरों (Normal Toll Rates)से अधिक का भुगतान भी करते हैं. Fast Tags से एक टोल प्लाजा को पार करने में प्रति वाहन लगभग 47 सेकंड का समय लगता है.