खुशखबरी! आपकी बेटी को Free में मिलेगी Scooty, जानें – रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी…

free scooty

डेस्क : आज लड़कियों ने हर क्षेत्र में अपनी सफलता साबित की है। एक समय था जब लड़कियों को ज्यादा पढ़ने-लिखने की अनुमति नहीं थी और उनसे घर के काम करवाए जाते थे। लेकिन, अब समय बदल गया है। आज लड़कियां न केवल पढ़ाई में बल्कि नौकरी में भी लड़कों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं, बल्कि धीरे-धीरे उनसे आगे निकल रही हैं। “रानी लक्ष्मीबाई योजना” के तहत मेधावी लड़कियों को नि:शुल्क स्कूटी दी जाएगी।

चुनाव के दौरान बीजेपी के घोषणापत्र में इसका जिक्र था। ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाली मेधावी छात्राओं को फ्री स्कूटी दी जाएगी। लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की जाएगी। इस योजना का लाभ सरकारी कॉलेजों, विश्वविद्यालयों के अलावा निजी विश्वविद्यालयों के छात्र भी उठा सकेंगे। यह योजना जल्द शुरू होने की उम्मीद है। योग्य छात्राएं योगी आदित्यनाथ सरकार से हरी झंडी मिलते ही आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकती हैं।

किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी? योग्य छात्राओं के पास ये दस्तावेज होना आवश्यक है – शिक्षा प्रमाण पत्र, बैंक खाता, पासपोर्ट आकार का फोटो, आयु प्रमाण पत्र, अधिवास प्रमाण पत्र और आधार कार्ड। इसके अलावा पूरे परिवार की आय भी 2.5 लाख रुपये से अधिक भी नहीं होनी चाहिए। इस योजना के तहत सभी मेधावी छात्राओं को स्कूटी खरीदने के लिए सरकार की ओर से आर्थिक मदद दी जाएगी। यह राशि सीधे उनके बैंक खाते में जमा की जाएगी। स्कूटी मिलने के बाद उनके कॉलेज जाना आसान हो जाएगा। इस स्कूटी योजना के जरिए सरकार छात्राओं को सीधे शिक्षा से जोड़ना चाहती है।

ये भी पढ़ें   Nitin Gadkari : अब सभी वाहन मालिकों को देना होगा आधा टोल, जाने डिटेल से

दिशानिर्देश क्या हैं

छात्र किसी विश्वविद्यालय या कॉलेज में पढ़ रहा हो।
उसे 10वीं/12वीं में 75 प्रतिशत अंक प्राप्त करने चाहिए थे।बैंक खाते को आधार से भी जोड़ा जाना चाहिए।
योजना के लिए आवेदन केवल ऑनलाइन मान्य होंगे।
केवल छात्राएं ही लाभ उठा सकेंगी
छात्र को किसी अन्य योजना का लाभ नहीं लेना चाहिए था।

कैसे होगा चयन? सभी मेधावी छात्राओं का डाटा मिलने के बाद सरकार बजट के अनुसार इस योजना पर काम करेगी। छात्राओं के चयन के लिए 12वीं के अंकों को आधार बनाया जाएगा। वहीं, पोस्ट ग्रेजुएशन छात्राओं के लिए उनके ग्रेजुएशन के अंकों को आधार बनाया जाएगा। इसके बाद जिन छात्राओं का चयन होगा उन्हें मुफ्त स्कूटी योजना का लाभ मिलेगा।