सस्ते हो जाएंगे Electric Vehicles! IIT के छात्रों ने बनाई सोडियम आयन बैटरी

Electric Vehicles

भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की डिमांड काफी तेजी से बढ़ रही है. और लोग रोजाना पेट्रोल/डीजल इंजन को छोड़ इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को चुन रहे हैं. ऐसा करने के पीछे मुख्य कारण बढ़ते हुए फ्यूल की कीमतें हैं. ऐसे में लोग बढ़त कीमतों से परेशान हो चुके हैं और अपने लिए एक सस्ता विकल्प ढूंढ रहे हैं.

आपको बता दें कि भारत में जल्द ही इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के दाम सस्ते हो सकते हैं. और अगर ऐसा हुआ तो इसमें सबसे बड़ा हाथ IIT खड़गपुर के छात्रों का होगा. क्योंकि IIT खड़गपुर के रिसर्सचर्स ने नैनो मटेरियल का उपयोग करके एक सोडियम आयन बेस्ड बैटरी और सुपरकैपेसिटर का निर्माण किया है. यह बैटरी लिथियम आयन बैटरियों के मुकाबले ज्यादा बेहतर होते हैं.

देश में सोडियम आयन अनुकूल मात्रा में मौजूद हैं और साथ ही इसको बनाने में भी कम पैसे खर्च होते हैं. IIT खड़गपुर के फिजिक्स प्रोफेसर Amrish Chandra ने इस बारे में अपना बयान दिया है. और अपने बयान में उन्होंने बताया की ये बैटरियां फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करती है और इसीलिए यह काफी तेजी से चार्ज की जा सकती है. आपको बता दें इन बैटरियों को इल्क्ट्रिक साइकिल के साथ भी जोड़ा जा सकता है.

लिथियम सामग्रियों की तुलना में सोडियम लिथियम बैटरी काफी सस्ता होता है इस में इस्तेमाल किये जाने वाले सामग्रियों से अगर सोडियम बैटरी में इस्तेमाल किये जाने वाले सामग्रियों की तुलना करें तो यह काफी सस्ता होता है. और सस्ता होने के साथ ही इनका परफॉरमेंस भी बेहद अच्छा होता है. इन बैटरियों को बनाना भी काफी आसान होता है. एक सोडियम आयन सेल से बनी बैटरी को भी कैपेसिटर की तरह ,0 वोल्ट में डिस्चार्ज किया जा सकता है और इसी कारण से अन्य स्टोरेज तकनीक की तुलना में इन्हे सुरक्षित माना जाता है.

ये भी पढ़ें   अब WhatsApp से होगा FASTag Recharge, बस इस नंबर पर Hi लिखकर भेजें

IIT खड़गपुर के प्रोफेसर Amrish Chandra ka कहना है कि इस तकनीक के इस्तेमाल से इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की कीमत को 10 हजार से 15 हजार तक गिरावट आएगी . लिथियम आयन स्टोरेज की तुलना में यह 25 प्रतिशत तक सस्ते हो जाएंगे.